तनाव दूर कैसे करे 11 बेस्ट तरीके Tension Door kaise kare

तनाव दूर कैसे करे 11 बेस्ट तरीके Strees Tension Door kaise kare

Stress Tension Door kaise kare

हर किसी को किसी न किसी वजह से जीवन में तनाव होता है और अगर आप जानते हैं कि अपने मानसिक तनाव से कैसे निपटें, तो आप आने वाली कई समस्याओं को रोक सकते हैं और तनाव मुक्त जीवन जी सकते हैं। अक्सर तनाव में रहने वाले लोग धीरे-धीरे उदासी और अवसाद की ओर बढ़ने लगते हैं और जीवन में उनकी रुचि कम होने लगती है।कई बार ऐसा होता है कि छोटी समस्याओं के बारे में सोचने से हम उन्हें बहुत बड़ा बना देते हैं।

हमेशा ध्यान रखें कि आप जितना तनाव लेंगे, आपकी समस्याएं उतनी ही बढ़ती जाएंगी। तनाव में, एक व्यक्ति सही निर्णय लेने में सक्षम नहीं होता है, इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि खुद को किसी निराशा में न डालें। दोस्तों, हम अक्सर इस भागदौड़ और बेहद व्यस्त जीवनशैली में तनाव को महसूस करते हैं और यह शब्द हम कितनी बार दिन में सुनते है।

लेकिन हम कभी नहीं समझ पाए कि तनाव क्यों होता है और इसे अपने जीवन से हमेशा के लिए कैसे हटाया जाए ? इस लेख में, हम जानेंगे कि तनाव दूर करने का उपाय क्या है। अगर आप जानना चाहते हैं कि तनाव से कैसे बचें, तो इस लेख को ध्यान से पढ़ें।

Stress Tension Door Kaise Kare

तनाव दूर कैसे करे 11 बेस्ट तरीके, Strees Tension Door kaise kare,tanav door kaise kare, how to remove stress in hindi,tension kaise hataye
Stress

तनाव/टेंशन का मतलब क्या है ?

तनाव और टेंशन हमारे दिमाग का मिजाज है जिसमें दिमाग की सोचने, समझने और निर्णय लेने की क्षमता पर बहुत बुरा असर पड़ता है। मन में भारीपन और सुन्नता का अहसास होता है। सोचने और विचार करने की शक्ति बिलकुल कम हो जाती है। व्यक्ति अच्छे और बुरे की अपनी समझ खो देता है। इस वजह से, किसी चीज या काम को लेकर अनावश्यक चिंता और अनिश्चितता है, जो की तनाव है।

तनाव शरीर की वह स्थिति है जब हमारे जीवन में अचानक परिवर्तन होता है जिसके कारण हमारे शरीर में एक भावनात्मक और शारीरिक प्रतिक्रिया होती है। जब हमारे दिमाग को अच्छा आराम नहीं मिल पाता है, तो हमारा दिमाग थक जाता है और थका हुआ दिमाग हमें स्ट्रेस की ओर ले जाता है।इस कारण से, यह तनाव हमारे शारीरिक, मानसिक और मनोवैज्ञानिक कार्य को बिगाड़ देता है और हमारे कई हार्मोन बढ़ाता है। बढ़ते तनाव के कारण व्यक्ति डिप्रेशन में चला जाता है।

तनावग्रस्त रहने के लक्षण क्या हैं ?

हालाँकि तनाव के कई लक्षण हैं, लेकिन यहाँ हम आपको कुछ प्रमुख लक्षण बता रहे हैं, जो व्यक्ति के तनाव की स्थिति को दर्शाता है।

1. नींद गायब होना।
2. अचानक सांस फूलना।
3. पाचन धीमा होना।
4. रक्त परिसंचरण की विफलता।
5. थकावट महसूस करना।
6. वजन में कमी।
7. रक्तचाप में अचानक वृद्धि।
8. दिल तेजी से धड़कना।
9. मन का उदास होना।
10. बाल झड़ना।
11. झगड़ा करना।

तनाव के प्रमुख कारण क्या है ?

तनाव के कई कारण हैं और बहुत से लोग छोटे मामलों से तनाव में आने लगते हैं। तनाव के कुछ कारण प्रमुख हैं –

1. किसी चीज या काम के बारे में अनावश्यक चिंता करना।
2. किसी कार्य में असफलता।
3. अपनी मेहनत और लक्ष्यों के साथ तालमेल रखने में असमर्थ। यानी अपने लक्ष्यों को बढ़ा रखना और उसके अनुसार मेहनत न करना।
4. सही समय पर सही निर्णय न ले पाना।
5. अपने अतीत की असफलताओं को ध्यान में रखना।
6. अपनी आमदनी से अधिक खर्च करना।
7. अधिक भावुक लोग अधिक जल्दी तनाव में आ जाते हैं।
8. बच्चों की चिंता करना।
9. बेरोजगारी आज की युवा पीढ़ी के तनाव का सबसे बड़ा कारण है।
10. परिवार और प्रेम संबंधों में कलह।
11. किसी को खो देना चाहे वह मर गया हो या आपसे दूर हो।
12. बुरी संगति जैसे अधिक धूम्रपान करना और शराब का सेवन करना।
13. तनाव का सबसे बड़ा कारण सामने वाले व्यक्ति पर अधिक विश्वास करना और उससे अपेक्षा रखना।

तनाव दूर करने के बेहतरीन तरीके

अगर सही समय पर तनाव को पहचान लिया जाए तो इससे बाहर निकलना बहुत आसान हो जाता है। यहां आपको बताया जा रहा है कि तनाव से कैसे छुटकारा पाया जा सकता है। आप तनाव से छुटकारा पाने के लिए उन्हें अपनाना शुरू कर सकते हैं।

1. अपने लिए समय निकालें –

जीवन जीने के लिए जितना काम करना जरूरी है, उतना ही अपने लिए समय निकालना भी उतना ही जरूरी है। सिर्फ काम करने से जीवन में एकरसता आती है। इस एकरसता को तोड़ना आवश्यक है, इसके टूटने के बाद ही नई ऊर्जा प्राप्त होती है। सभी व्यस्तता के बीच समय-समय पर मौज-मस्ती के लिए समय निकालना बहुत जरूरी है। खुद को थोड़ा और समय देने का प्रयास करें।

2. सुबह जल्दी उठा करें –

किसी दिन अगर आप कुछ देर से उठते हैं, तो आपने ध्यान दिया होगा कि आपको सभी काम करने के लिए बहुत प्रयास करना पड़ता है। हमारे काम पर इसका बुरा असर पड़ता है। जल्दी उठने की आदत डालें। इससे आपको कई फायदे होंगे और यह आपको तनाव से भी दूर रखेगा।

3. नियमित व्यायाम करें –

अगर आप रोजाना व्यायाम करते हैं, तो यह तनाव को कम करने में आपकी बहुत मदद करता है क्योंकि व्यायाम के समय और बाद में हमारी मांसपेशियों का बहुत अच्छा व्यायाम होता है और उन्हें आराम भी मिलता है। जिससे हमें सोने में आसानी होती है और हमारा mood भी अच्छा रहता है। इसीलिए आपको रोजाना व्यायाम करना चाहिए।

4. नशे से दूर रहें –

ज्यादातर लोग जो सबसे बड़ी गलती करते हैं, वह है तनाव के समय में नशा करना। जब कोई व्यक्ति तनाव में होता है, तो उसे किसी की सहायता की आवश्यकता होती है, लेकिन अधिकांश लोग इसके उपचार को गलत पाते हैं और इससे बाहर निकलने के लिए नशा का सहारा लेते हैं जो कि बिल्कुल भी उचित नहीं है। नशा (तंबाकू, शराब) का सेवन करने से हमारी सोचने की क्षमता पर बहुत नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। जिसके कारण हमारा तनाव कम होने के बजाय बढ़ जाता है। इसलिए जितना हो सके इससे दूर रहें।

5. सकारात्मक सोच महत्वपूर्ण है –

स्थिति चाहे कुछ भी हो। अपनी सोच को सकारात्मक रखें। अगर आपकी सोच नकारात्मक हो जाती है तो आप किसी भी समस्या का समाधान नहीं कर सकते। साथ में, आपको केवल इसके साथ परेशानी होगी, सकारात्मक सोच के आधार पर, आप आसानी से सबसे बड़ी समस्या को हल कर सकते हैं। नकारात्मक ढंग से सोचने से हमारी क्षमता पर भी असर पड़ता है।

6. अपने पसंदीदा शौक का आनंद लें –

हर किसी का कोई न कोई शौक होता है चाहे वो गाने सुनना, मूवी देखना, कोई खेल खेलना, योगा करना हो, जिम करना हो, हिल स्टेशन घूमना हो जब भी आप टेंशन या तनाव महसूस करते हैं, तो आप अपने शौक के अनुसार आनंद ले सकते हैं।

7. (मोटिवेशनल) प्रेरणा बढ़ाने वाले वीडियो और ब्लॉग पढ़े –

आज के समय में, आप मोबाइल, लैपटॉप और डेस्कटॉप पर इंटरनेट की मदद से YouTube के प्रेरक वीडियो देखकर और Google पर Blog पढ़कर खुद को प्रेरित कर सकते हैं। यह प्रक्रिया मानसिक बीमारी के लिए मंत्र की तरह काम करती है, जो आपको तनाव से छुटकारा पाने में मदद करता है।

8. ठंडे पानी से स्नान करें –

जब भी आप तनाव में हों, तो ठंडे पानी से नहाएं और जमकर नहाएं। जब हमारे शरीर में ठंडे पानी की एक धारा गिरती है, तो हमारा शरीर हमारे तनाव के स्तर को कम करता है और हममें तनाव को कम करने के लिए हार्मोन उत्पन्न होते हैं।

9. रिश्तेदारों के साथ रहें –

किसी ने बहुत सही कहा है कि चार रिश्तेदारों के साथ खुशी के पल साझा करने पर, यह चार गुना अधिक बढ़ जाता है, जबकि चार रिश्तेदारों के साथ दु: ख साझा करते समय, यह एक चौथाई रह जाता है।

इसलिए, अपना सुख हो या दुःख इसे अपने रिश्तेदारों के साथ साझा करें। इसके साथ, समय-समय पर अपने रिश्तेदारों से मिलने का अवसर लें। ऐसा नहीं होना चाहिए कि आप केवल जरूरत के समय उन्हें याद रखें। रिश्तेदारों को मिलने से और उनके साथ वक्त गुजारने से आप तनाव भूल भी जाते है और हमारा जीवन बेहतर हो जाता है।

10. एक समय में एक काम करना चाहिए –

आज के युग में, लोग हर कार्य को जल्दी से निपटाना चाहते हैं, जिसके कारण वे एक समय में सभी काम करना सोचते हैं और इस प्रयास में, वे एक बड़ी गलती करते हैं। वह अपने किसी विशेष कार्य पर ध्यान केंद्रित करने में असमर्थ है।जिसके कारण उनके सभी काम सही तरीके से पूरे नहीं हो पाते हैं। परिणाम यह होता है कि तनाव उन्हें पकड़ लेता है। आप ऐसा करने से बचे और एक समय में केवल एक ही कार्य को समय दे।

11. तनाव और टेंशन पर उपचार –

यदि आपको कभी लगता है कि आप अधिक तनाव और तनाव में हैं, तो तुरंत एक फिजियोथेरेपिस्ट और काउंसलर (सलाहकार) से परामर्श करें क्योंकि टेंशन, तनाव, मानसिक रोग आदि सभी को विभिन्न उपचारों से ठीक किया जा सकता है।

तो ये थी हमारी पोस्ट तनाव दूर कैसे करे 11 बेस्ट तरीके, Strees Tension Door kaise kare,tanav door kaise kare, how to remove stress in hindi. आशा करते हैं की आपको पोस्ट पसंद आई होगी और Strees Tension Door kaise kare की पूरी जानकारी आपको मिल गयी होगी. Thanks For Giving Your Valuable Time.

इस पोस्ट (Strees Tension Door kaise kare) को Like और Share करना बिलकुल मत भूलिए, कुछ भी पूछना चाहते हैं तो नीचे Comment Box में जाकर Comment करें.

Follow Us On Facebook

Follow Us On Telegram

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *