पथरी का इलाज कैसे करे ?

Contents

पथरी का इलाज कैसे करे पथरी के इलाज के लिए घरेलू उपाय How to Treat Kidney stone in Hindi

How to Treat Kidney stone in Hindi,पथरी का इलाज कैसे करे,फिटकरी से पथरी का इलाज,pathri ka ilaj kaise kare,pathri ka ilaj gharelu upay kya hai

How to Treat Kidney stone in Hindi

हमारे शरीर का महत्वपूर्ण अंग किडनी होती है। किडनी हमारे शरीर में पानी के लेवल तथा अन्य दूषित प्रदार्थो, केमिकल और मिनरल्स का संतुलन बनाए रखती है। साथ ही किडनी शरीर से नुकसानदायक टॉक्सिन [Toxin] को मूत्र के जरिए बाहर निकालती है।

कई बार हमारे ग़लत खानपान और पर्यावरणीय कारको के कारण किडनी पर बुरा असर पड़ता है और किडनी से जुड़ी समस्याए उत्पन हो जाती है। इनमे से एक है, गुर्दे का पथरी या किडनी स्टोन । गुर्दे की पथरी या किडनी स्टोन को चिकित्सकिय भाषा में नेफ्रोलिथिओरीस (nephrolithiasis) भी कहा जाता है।

कई बार किडनी स्टोन छोटी-छोटी होती है, जो की सामान्य उपायों से भी मूत्र के ज़रिये बाहर निकल जाती है। लेकिन जब पथरी बड़ी यानी 3mm से 5mm की होती है, तो यह मूत्रमार्ग में रुकावट पैदा करती है, जिसके कारण व्यक्ति के पेट में दर्द, उल्टी जैसी समस्याएँ उत्पन्न होने लगती है।

आज इस आर्टिकल में हम पथरी का इलाज कैसे करें, How to Treat Kidney stone in Hindi इस विषय पर चर्चा करेंगे साथ ही कुछ ऐसे तरीक़ों को जानेंगे, जिनसे आप पथरी या किडनी स्टोन की समस्या को दूर कर पायेंगे। तो आइये जानते है पथरी का इलाज कैसे करे How to Treat Kidney stone in Hindi

गुर्दे की पथरी या किडनी स्टोन क्या होती है [What is kidney stones in Hindi]

How to Treat Kidney stone in Hindi,पथरी का इलाज कैसे करे,फिटकरी से पथरी का इलाज,pathri ka ilaj kaise kare,pathri ka ilaj gharelu upay kya hai

गुर्दे की पथरी या किडनी स्टोन मानव शरीर में मिनरल्स और नमक जमने के कारण ठोस का रूप के लेती है। यह गुर्दे ओर मूत्रनलिका से सम्बंधित बीमारी है। जिससे गुर्दे के अंन्दर छोटे- छोटे या कई बार बड़े पत्थरों का निर्माण हो जाता है। गुर्दे में एक ही समय में एक से अधिक पथरी या किडनी स्टोन हो सकती है।

गुर्दे की पथरी या किडनी स्टोन अगर छोटी यानी 2mm से कम की होती है, तो यह बिना किसी दिक्कत के मूत्रमार्ग के जरीये बाहर निकल जाती है। लेकिन अगर पथरी का आकार 3mm से 5mm का होता है, तो यह मूत्रमार्ग में रुकावट ओर असहनीय तकलीफ़ उत्पन्न कर सकती है।

गुर्दे की पथरी या किडनी स्टोन मुख्यतः चार प्रकार की होती है।

A. केल्शियम पथरी
B. यूरिक एसिड पथरी
C. स्त्रावित पथरी
D. सिस्टिने पथरी

इनमे से केल्शियम स्टोन ओर यूरिक एसिड स्टोन आमतौर पर सबसे अधिक पाई जाती है।

गुर्दे की पथरी या किडनी स्टोन होने के कारण [Causes of kidney stone in Hindi]

गुर्दे की पथरी होने के कई कारण हो सकते है। इनमे से मुख्य है.

1) कम पानी पीना।

2) शरीर में पोषक तत्व की कमी होना।

3) दवाइयों का अधिक सेवन करना।

4) हाईपर पेराथायराईज्जिम की समस्या होना।

5) ज़्यादा ओयली और दूषित खाना खाना।

6) मूत्रमार्ग में अधिक बार संक्रमण होना।

7) जंक फ़ूड का अधिक मात्रा में सेवन करना।

8) ख़राब प्रदूषण।

9) डिहाईड्रेशन।

10) शरीर में मिनरल्स की कमी होना।

11) यूरिन से अधिक मात्रा में केमिकल होना।

पथरी या किडनी स्टोन के लक्षण [Symptoms of kidney stones in Hindi]

सामान्यत: पथरी होने पर दर्द महसूस होता है, लेकिन इसके अलावा पथरी होने के कई और भी लक्षण भी होते है। जैसे ;

1. अचानक पेशाब करते समय लिंग में दर्द होना या फिर पेशाब का अचानक बंद हो जाना।

2. यूरिन में केमिकल के कारण पेशाब में बार-बार संक्रमण होना।

3. पेट में असहनीय दर्द होना।

4. पेशाब में जलन होना।

5. कभी-कभी पेशाब में खून भी आना।

6. उल्टी होने के साथ-साथ जी मचलना।

7. बुख़ार होना और अत्यधिक पसीना निकलना।

गुर्दे की पथरी को बाहर निकलने के घरेलू उपाय [Home remedies for Kidney stones in Hindi]

गुर्दे की पथरी को बाहर निकालने के लिए ज़रूरी नही है की ऑपरेशन ही किया जाये। इसके लिए कई घरेलू उपाय मौजूद है, तो आइये जानते है कि गुर्दे की पथरी को बाहर निकलने के घरेलू उपाय & Home remedies for Kidney stones in Hindi

सोंफ़ का मिश्रण पथरी के इलाज में होता है फ़ायदेमंद [Fennel seeds mixture for Kidney stones]

सोंफ़ का मिश्रण गुर्दे की पथरी को निकलने में काफ़ी फ़ायदेमंद होता है। सोंफ़ में कई पोषण तत्व होते है। जैसे, सोडीयम, आयरन, कैल्शियम और अन्य कई खनिज तत्व मौजूद होते है। साथ ही सोंफ की सुगंध अच्छी होती है। पथरी के इलाज के लिए आपको सोंफ़ के साथ-साथ मिश्री और सुखे धनीये की आवश्यकता होगी।

अब इनका मिश्रण बनाने के लिए इन्हें लगभग 50-50 ग्राम मात्रा में ले ले और इनका बारीक पाउडर बना ले। आप इसको रात को सोने से पहले 1 या 2 कप ठंडे पानी में मिलाकर पीना है। इससे पथरी पेशाब के रास्ते से बाहर निकल जाती है।

बेलपत्र का जूस पीने से मिल सकता है पथरी से छुटकारा [Bel Patra for Kidney stones]

बेलपत्र का जूस आपको बाज़ार में आसानी से मिल जाता है या फिर आप घर पर भी बेलपत्र का जूस निकाल सकते है। इससे शरीर को काफ़ी फ़ायदे होते है। बेलपत्र का जूस पीने से आप पथरी की समस्या से छुटकारा पा सकते है। इसके लिए आपको बेलपत्र के जूस में 2 से 3 काली मिर्च पिस कर डालनी है और इसे सुबह के समय पी लेना है। अगर इसका 2 से 3 हफ्ते सेवन किया जाये, तो पथरी में राहत मिलती है।

सेब का सिरका से पथरी का इलाज [Apple cider vinegar for kidney stones]

सेब का सिरका हमारे शरीर के लिए काफ़ी लाभकारी होता है। जिन लोगों को पथरी की समस्या है, उनके लिए सेब का सिरका रामबाण इलाज है। सेब के सिरके में क्षार गुण होते है। इसलिए आपको 1 गिलास पानी में 2 से 3 चम्मच सेब के सिरके ओर 1 चम्मच शहद मिलाकर पीना चाहिए।

अनार का जूस से पथरी का इलाज [Pomegranate juice for kidney Stones]

अनार के बिजो में एंट्रिजेंट की मात्रा होती है, जो कि पथरी की समस्या को कम करने में मदद करता है। अनार के जूस से आपके शरीर में पानी की कमी पूरी होती है और अनार में मोजुद कई पोषक तत्व शरीर को लाभ पहुँचाते है। पथरी को बाहर निकालने के लिए आपको रोज़ अनार का जूस पीना चाहिए।

जेतुन तेल ओर निम्बू का रस से पथरी का इलाज [Olive oil and Lemon for kidney stones]

पथरी के इलाज में जेतुन तेल और निम्बू का रस बेहद असरदार होता है। इन दोनो को मिलाकर रोज़ाना लेने से आप पथरी की समस्या से छुटकारा पा सकते है। निम्बू में मौजूद सेट्रिक अमल पथरी को तोड़ने का काम करता है ओर जेतुन तेल उसे घोलकर बाहर निकालने में फ़ायदेमंद होता है। इस घरेलू नुस्ख़े से आप बिना किसी सर्जरी के पथरी को शरीर से बाहर निकाल पायेंगे।

मकई से पथरी का इलाज [corn for kidney stones]

मकई का रोज़ाना सेवन करने से शरीर में यूरिन की मात्रा बढ़ती है, जिससे पथरी छोटे-छोटे क़णो में टूटकर पेशाब के रास्ते शरीर से बाहर निकल जाती है। मकई में अधिक मात्रा में पानी होता है, शरीर को हाईड्रेड रखता है। आप चाहे तो मकई का उपयोग चाय के रूप में भी कर सकते है।

पपीते की जड़ से पथरी का इलाज [Papaya roots for kidney stones]

पपीते की जड़ पथरी के घरेलू इलाज में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। इससे पथरी में काफ़ी आराम मिलता है। इसके सेवन के लिए लगभग 10 से 15 पपीते की जड़ को एक गिलास पानी के अंदर अच्छे से घोल लेना है और रोज़ाना इसका सेवन करना है। इससे पथरी धीरे-धीरे गलने लगती है और इसके कुछ दिनो के सेवन से ही पथरी बाहर निकल आती है।

केला से पथरी का इलाज  [Banana for kidney stone]

केले में विटामिन-B मुख्य रूप से पाया जाता है, यह पथरी के उपचारी में बेहद लाभकारी साबित होता है। विटामिन-B शरीर में ओक्जलेट क्रिस्टल को बनने से रोकता है ओर ओक्जेलिक अम्ल को तोड़ता है। केले के अलावा आपको नारियल पानी का सेवन भी करना चाहिए, पथरी को घोलता है ओर बाहर निकालता है।

कुल्थी दाल से पथरी का इलाज [Kulthi Dal for Kidney stones]

कुल्थी दाल पथरी के इलाज में कारगर दवा है। आपको इसे शाम के समय एक गिलास पानी में भिगोकर रख देना है और सुबह ख़ाली पेट उस पानी को पीना है। उसके बाद फिर से उसी दाल में पानी भरकर रख दे और उस पानी को शाम के समय पीना है। इससे आपको पथरी में काफ़ी फ़ायदा होगा और कभी पथरी की शिकायत नही होगी।

आँवला से पथरी का इलाज [Gooseberry for kidney stones

आँवले का सेवन पथरी के इलाज में अच्छा माना जाता है। आपको इसका सेवन करने के लिए आँवले के पाउडर के सुबह के समय एक से दो चम्मच लेने है। इससे आप पथरी को कम कर पाएँगे और धीरे-धीरे पथरी पानी में घुलकर पेशाब के रास्ते अपने आप बाहर निकल जाएगी।

पथरी के इलाज के लिए हमने आपको जितने भी तरीक़े बताए है, उनमें अधिकतर तरीक़े तरल पदार्थों से बने है। इसलिए आपको तरल चिजो को ज़्यादा पीना है। तरल चीज़े जैसे, पानी, जूस इत्यादि। इससे पथरी घुलकर पेशाब के रास्ते बाहर आती है।

यह बेहतरीन आर्टिकल भी जरुर पढ़े –

*. पेट की गैस का घरेलु इलाज
*. आमाशय के अल्सर का इलाज
*. हर्निया का इलाज और उपचार

इस आर्टिकल पथरी का इलाज कैसे करे – How to Treat Kidney stone in Hindi में बताई गई जानकारी आपको कैसी लगी ? Comment करके जरूर बताएं और इस पोस्ट को Social media के माध्यम को अपने दोस्तों के साथ Share करें ।

Follow Us On Facebook

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *