उल्टियाँ आने पर क्या करे इसकी रोकथाम कैसे करे ?

उल्टियाँ आने पर क्या करे इसकी रोकथाम कैसे करे  Home Remedies for Prevent Vomiting or Ulti in Hindi 

Home Remedies for Prevent Vomiting or Ulti in Hindi

दोस्तों आज हम आपको उल्टी से जुडी समस्या से अवगत कराने जा रहे है उल्टियाँ आने पर क्या करे इसकी रोकथाम कैसे करे इस पर चर्चा करेंगे। अक्सर हमें कही भी सफर करते वक़्त उल्टियों की शिकायत होती है, मन अजीब सा महसूस करने लगता है या सर दर्द होने लगता है।

ऐसा कई बार तब भी होता है जब आप या तो खाली पेट निकले है या फिर कुछ ऐसा खाकर निकले जिसे आपका पेट पचाने में असमर्थ है इसीलिए सफर के दौरान आपको उल्टी होती है। लेकिन ये ज़रूरी नहीं की आपको केवल सफर में ही उल्टी का सामना करना पड़े।

कई बार हमें पेट में कुछ खराबी आने से, गलत खानपान, पाचन ठीक से न होने पर या फिर गर्भवस्था में आने पर भी ultiya होनी शुरू हो जाती है इसका मतलब ये नहीं के आप लम्बे समय से बीमार है या आपको कुछ भयानक बीमारी है।

इसका सीधा सा मतलब यही है कि आप कही न कही अपने सेहत पर ध्यान नहीं दे पा रहे है। उल्टी आने पर जी मिचलाना , जी घबराना जैसी परेशानिया होती है और आपको सफर में या कभी कभी घर घर पर ऐसा महसूस होने लगता है और गर्भवती स्त्री के साथ ऐसा होना साथ है। इसीलिए आप घबराये नहीं केवल हमारे इस article को ध्यानपूर्वक पढ़े।

Home Remedies for Prevent Vomiting or Ulti in Hindi

उल्टियाँ आने पर क्या करे इसकी रोकथाम कैसे करे,Home Remedies for Prevent Vomiting or Ulti in Hindi,Ulti aane par kya kare,vomiting problems
vomiting

क्या कारण है बार बार उल्टियाँ आने के ?

1. पाचन तंत्र का ख़राब हो जाना : दोस्तों बहूत बार हमारे खाने पीने के system में बदलाव आने से हमारा पाचन तंत्र ख़राब हो जाता है और हर्निया की भी शिकायत होने के कारण हमें उल्टियां आने लग जाती है।

2. गर्मी में ज़्यादा देर तक बाहर रहना : ज़्यादा देर तक गर्मी में बाहर रहने से हमारे शरीर में गर्मी बैठ जाती है और कुछ घंटे बाद हमें खट्ठी खट्ठी डकार आने लगती है इसका मतलब यही है हमें गर्मी लगी हुई है और उल्टियां आनी शुरू हो जाती है।

3. पेट में संक्रमण होना : उल्टी का कारण आपके पेट से जुडी समस्याएं भी हो सकती है। जैसे पेट का कोई संक्रमण हो जाने पर पेट दर्द , जलन और इस कारण बुखार हो जाने की वजह से मितली आती है। इसके कई उदाहरण जैसे नोरोवायरस और रोटावाइरस के कारण भी उल्टिया बहुत आती है। रोटावाइरस नामक ये संक्रमण अधिकतर बच्चो में पाया जाता है जिस वजह से उन्हें ये सब परेशानिया होती है।

4. गर्भावस्था में उल्टी का आना : गर्भावस्था में उल्टियाँ आना सामान्य बात है क्योकि इस वक़्त महिला मुश्किल से खाना पचाती है और कई बार खाना खाने का मन ना होने के कारण भी जी मिचलाता है और उल्टी हो जाती है।

5. सफर में उल्टियाँ होने के कारण : दोस्तों अक्सर सफर में उन्हें उल्टियों की शिकायत होती है जो कभी कभी बाहर का सफर करते है क्योकि उन्हें बाहर जाने की आदत नहीं होती तो उनका शरीर uncomfortable feel करता हैं। कई बार लम्बे सफर में जलवायु या तापमान में परिवर्तन होने के कारण सर में दर्द होता है मितलिया आनी आरम्भ हो जाती है क्योंकि एकदम से परिवर्तित जलवायु को हमारा शरीर स्वीकार नहीं कर पाता जिस वजह से उल्टी आना स्वाभाविक है।

सफर में उल्टिया होने के और भी बहुत से कारण है जो की निम्नलिखित है।

  • बस में सफर करने पर आपको धुल मिटटी और अगरबती जैसी खुशबू को झेलना पड़ता जिसका असर दिमाग पर होता है सर भारी हो जाती है और कुछ यात्री को उलटी हो जाती है।
  • घर से कुछ न खाकर चलना या कुछ तला भुना खा लेना फिर सफर करना , उल्टी को संकेत करता है
  • सफर में भारी कपड़े, भारी jewellery पहनना से भी जी घबराता है शरीर को खुलकर सांस लेने की जगह नहीं मिल पाती इसलिए उल्टियों का आना जायज़ है।
  • किसी किसी को कार में सफर करने की भी आदत नहीं होती और उन्हें कार में अजीब सी smell आती है जैसे रैक्सीन की सीट से हमेशा smell आती है , खाने पीने की smell और सीलन आदि की smell से कुछ लोगो को उल्टियां आती है।
  • कई बार कुछ लोग लम्बे समय तक यात्रा करते है और पानी साथ नहीं रखते जिसके चलते उनकी तबियत में बदलाव आने लगता है और गला सूखने लगता है और इस वजह से यात्रियों को उल्टी की समस्या होती है।

उल्टियाँ आने पर क्या करे इसकी रोकथाम कैसे करे ?

जैसे की आप देख ही चुके कि हमें किस किस अवस्था में उल्टियां आ सकती है तो हम इसके रोकथाम के कुछ आसान उपाय बताने जा रहे है।

1. अदरक और नींबू है रामबाण : अदरक और नींबू का बराबर मात्रा में मिश्रण बनाये और उलटी आने पर इसका सेवन करे। अदरक में मौजूद एंटी-अमीटिक गुण और नींबू citric acid पाचन तंत्र में सुधार करता है। और ये मिश्रण आप सफर में भी लेकर जा सकते है और थोड़ी थोड़ी देर में एक एक चम्मच से इसका सेवन करते रहे।

2. अदरक और काली मिर्च का करे उपयोग : थोड़े से अदरक के रस के साथ सेंधा नमक और काली मिर्च को पीस कर मिश्रण बनाकर पी ले इससे उल्टी आनी बंद हो जाती है।

3. अदरक और प्याज का रस पीये : अदरक और प्याज के रस को उल्टियों की रोकथाम में बहुत फायदेमंद बताया है, चाहे तो आप प्याज के रस के साथ पुदीने का रस भी एक एक चम्मच पी सकते है। इससे उल्टिया आना निश्चित रूप से बंद हो जाता है।

4. अनार से करे उल्टी की रोकथाम : अनार में सभी पोषक तत्व पाए जाते है जो की गर्भवती महिलाओं के लिए बहुत लाभकारी होते है इसीलिए pregnancy के वक़्त महिलाये अनार का जूस पी सकती अगर उन्हें उल्टियाँ जैसा मन होता है।

5. गिलोय का रस है फायदेमंद : उल्टियाँ आने पर आप गिलोय का रस निकाल कर भी पी सकते है इसके साथ मिश्री मिलाकर 2 चम्मच रस पी सकते है गर्भवती महिलाये इसका प्रयोग अपने डॉक्टर के परामर्श के बिना ना करे।

6. गर्मी में करे पुदीने का सेवन: यदि आपको गर्मी के कारण उल्टियां हो रही है तो पुदीने के रस में नींबू की कुछ बून्द और शहद का मिश्रण बनाकर इसका सेवन दिन में तीन, चार बार कर सकते है इससे उल्टियों में राहत मिलेगी।

7. पानी करे आपको तरोताज़ा : हर एक घंटे बाद थोड़े थोड़े पानी का सेवन करते रहे। पानी पेट भरकर ना पीये दो दो घूंट करके ही पीना सही माना जाता है। गर्भवती महिलाये भी पानी का सेवन समय समय पर करती रहे और सुबह खाली पेट रात को रखा हुआ पानी पीये इससे आपका मूड फ्रेश रहेगा और उलटी की समस्या नहीं होगी।

हमारा ये आर्टिकल उल्टियाँ आने पर क्या करे इसकी रोकथाम कैसे करे, Home Remedies for Prevent Vomiting or Ulti in Hindi,Ulti aane par kya kare आपको निश्चित तौर पर काफी फायेमंद साबित होगा बस आप इसमें दिए गए tips को follow करते रहे। हमारा ये article आपको कैसा लगा। comment box में हमें response करना ना भूले। इसी तरह आपकी अच्छी सेहत के लिए हम ऐसे ही आर्टिकल लाते रहेंगे। धन्यवाद।

Follow Us On Facebook

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *