हार्ट में ब्लॉकेज के लक्षण कारण और घरेलू इलाज

हार्ट में ब्लॉकेज के लक्षण कारण घरेलू इलाज और परहेज Heart blockage symptoms Home Remedies in Hindi

Heart blockage symptoms Home Remedies in Hindi

आज हम आपको इस आर्टिकल में Heart Blockage से सम्बंधित समस्याएं, इलाज और परहेज के बारे में बताने जा रहे है। दोस्तों हार्ट की समस्या होना आजकल आम बात हो चुकी है पहले ये समस्या केवल बुज़ुर्गो में 40 या 45 साल की उम्र के बाद शुरू होती थी लेकिन आज कल दिल से जुडी बहुत सी समस्याएं 30 से पहले मतलब की युवाओं में भी पाई जाती है।

हार्ट ब्लॉकेज की समस्या एक ऐसी समस्या है जो आजकल किसी भी उम्र में पाई जा सकती है और ऐसा इसीलिए होता है क्योकि आजकल खाने पीने की हर चीज़ में मिलावट होती है और लोग बाहर का खाना ज़्यादा पसंद करते है। Heart Blockage की समस्या का होना आजकल आम समस्या हो गई है लेकिन क्या आप जानते है कि ये समस्या किसी किसी को जन्म से भी शुरू हो जाती है। इस तरह की दिल से समबन्धित समस्या को Ignore न करके गंभीर रूप से इसका इलाज किया जाए तो ज़्यादा बेहतर है।

हम आपको इस आर्टिकल में हार्ट ब्लॉकेज के लक्षण, कारण, घरेलू इलाज और परहेज के बारे में आपको खुल कर बताएँगे और इस ब्लॉकेज को खोलने के भी उपाय के बारे में चर्चा करेंगे। तो आइये जानते हैं कि हार्ट ब्लॉकेज क्या है ? इससे जुडी समस्याओं से निजात कैसे पाए और कैसे खुद को स्वस्थ रखे।

Heart blockage symptoms Home Remedies in Hindi

Heart Blockage

हार्ट ब्लॉकेज क्या है और इसके लक्षण क्या है ?

हार्ट ब्लॉकेज की समस्या गंभीर समस्या है जो की लापरवाही से बढ़ जाती है। ये बीमारी ह्रदय में Electrical संकेतो से जुडी एक समस्या के रूप में जानी जाती है क्योकि ये Electrical Signal ही दिल की धड़कनो की वजह बनते है।

Heart Blockage की समस्या अब सामान्य हो चुकी है जोकि अधिकतर खाने पीने की लापरवाही के कारण होती है और अब ये बीमारी कुछ बच्चो में जन्म से पाई जाने लगी और इसका कारण ये भी पाया गया है की आजकल गर्भवती स्त्री भी बहार का खाना, पैकिंग फ़ूड और केमिकल युक्त Beverages खाती है जिस वजह से बच्चे में भी हार्ट ब्लॉकेज की बीमारी पाई जाने लगी है। हार्ट ब्लॉकेज जैसी बीमारी हमारे

दिल की धमनियों में कफ धातु जमने से होती है उससे पैदा होने वाली दिल की समस्या को ही हार्ट ब्लॉकेज कहते है. यदि कोरोनरी आर्टरीज़ में कोई रुकावट पैदा होती है तब हृदय में Blood Supply भी प्रभावित होती है जिससे रक्त रुकता रहता है और रक्त के थक्के बनने लगते है और यही मुख्य कारण है हार्ट अटैक होने का। Medical Science में इसे Acute Myocardial Information के नाम से भी जाना जाता है। Heart Blockage दो तरह से होता है एक Stable Plaque और दूसरा Unstable Plaque

1. Stable Plaque : Stable Plaque Heart Blockage की ये समस्या धीरे धीरे बढ़ती जाती है इसमें खून गाढा और सख्त हो जाता है ऐसे Block को Stable ब्लॉक कहते है। इसे Collateral Vessel भी कहा जाता है ये Vessels Block हो चुकी आर्टरी को बाईपास करती है और ये मांसपेशियो तक ऑक्सीजन और आवश्यक रक्त पहुंचाती है। वैसे Stable Block से रुकावट की मात्रा से कोई फर्क नहीं पड़ता इसमें किसी भी हृदय के मरीज को घबराने की ज़रूरत नहीं है क्योंकि इसमें गंभीर दिल का दौरा नहीं पड़ता।

2. Unstable Block : Unstable Block में मांसपेशिया Damage हो जाती है क्योंकि इसमें Collateral को पूरी तरह से विकसित होने के लिए Unstable Block का समय नहीं मिल पाता। इसमें ब्लॉक के टूटने पर खतरनाक थक्का बन जाता है जिससे कई व्यक्ति को अचानक से Heart Attack आ जाता है और इसमें व्यक्ति Sudden Cardiac Death का शिकार हो जाता है।

हार्ट में ब्लॉकेज के लक्षण :

हार्ट में ब्लॉकेज की समस्या बहुत गंभीर होती है इसमें अगर समय पर ध्यान न दिया जाए तो आपकी जान को खतरा भी हो सकता है। इसीलिए हार्ट ब्लॉकेज में व्यक्ति को क्या क्या समस्या हो सकती है इस बात का विशेष ध्यान रखना पड़ता है और इसके लिए आपको हार्ट ब्लॉकेज के लक्षण को पहचानना बहुत ज़रूरी है ताकि आप ह्रदय की समस्या से निजात पा सको। अब आप देख सकते है कि हार्ट ब्लॉकेज में किस किस तरह की परेशानिया होती है।

*. साँस फूल जाना।
*. सर में दर्द होना।
*. बार बार चक्कर आना।
*. हाथ पैर सुन्न हो जाना।
*. हाथ पैरो में दर्द होना।
*. साँस ठीक से ना आना।
*. कभी कभी ठण्ड लगना।
*. छाती में अचानक दर्द होना।
*. कभी कभी थकान महसूस करना।
*. थोड़ा थोड़ा काम करने पर भी थकान हो जाना।

हार्ट में ब्लॉकेज के कारण :

जैसा की हम आपको इस आर्टिकल में हार्ट ब्लॉकेज के बारे में बता रहे है और आपको उसके लक्षण भी बता चुके है तो आपको अंदाज़ा हो ही गया होगा कि ये बीमारी आपके लिए कई बार जानलेवा भी सिद्ध हो सकती है। और इसी से बचाव के लिए हम आपको इसके कारण से अवगत कराने जा रहे है। तो आईये पढ़ते है हार्ट ब्लॉकेज के कारण के बारे में।

*. किसी दवाई से भी हो सकता है गलत असर : यदि आप किसी बिमारी की दवा का सेवन कर रहे है और आपको ह्रदय से सम्बंधित कोई बीमारी है तो भी कई बार दवाई का Side Effect भी हो जाता है। इसीलिए किसी भी दवा का सेवन अपने डॉक्टर के परामर्श के बिना ना करे और अपने Doctor को अपनी सभी बीमारी का ब्यौरा दे ताकि डॉक्टर्स आपके स्वास्थ्य के According ही दवाई का चयन करे।

*. हार्ट सर्जरी से भी सकता हार्ट ब्लॉक : यदि आपकी Heart Surgery हो चुकी है या हार्ट सर्जरी पर विश्वास रखते है तो आपको हार्ट ब्लॉकेज की समस्या हो सकती है और एक Research में ये भी सिद्ध हुआ है कि सर्जरी करने वाले मरीज़ को ज़्यादा हार्ट ब्लॉकज की समस्या का सामना करना पड़ता है।

*. कोलेस्ट्रॉल से बढ़ता है हार्ट ब्लॉकेज : हार्ट ब्लॉकेज बढ़ने का एक बहुत बड़ा कारण कोलेस्ट्रॉल भी है कई बार Cholesterol Level बढ़ जाने पर यह आपकी धमनियों में जमा हो जाता है और इस वजह से हार्ट में ब्लॉकेज होनी शुरू हो जाती है। और इसकी वजह से मस्तिष्क, आंख, दिल और किडनी पर असर हो सकता है। इसीलिए आपको इस पर ध्यान देने की आवश्यकता है।

हार्ट में ब्लॉकेज के घरेलू इलाज :

दोस्तों अब तक आप हार्ट से सम्बंधित बहुत सी जानकारी हमारे इस आर्टिकल में पढ़ चुके है अब हम आपको बताने जा रहे है हार्ट ब्लॉकेज को हटाने के घरेलु इलाज। यकीनन ये घरेलु इलाज आपके लिए वरदान साबित होंगे क्योकि इन नुस्खों को आज़मा कर आपके दिल से सम्बंधित ये बीमारी आप से कोसो दूर जाने वाली है और यही नहीं बड़े बड़े शोधकर्ताओं ने भी माना है की घरेलु नुस्खे से बहुत सी बीमारियों को ठीक किया जा सकता है और वो भी बिना किसी Side Effect के।

*. लहसुन है दिल का दोस्त : जी हां आपने सही सुना है रोजाना एक लहसुन खाने से आपके दिल के बहुत रोग दूर होते है लहसुन दिल को हर तरह से सुरक्षित रखता है। इसमें मौजूद Anticoagulant गुण Blood को गाढ़ा नहीं होने देता अतः खून को पतला रखने में मदद करता है और ये मरीज के Blood Pressure को भी कण्ट्रोल में रखता है इसी कारण लहसुन हार्ट अटैक जैसी बीमारी और stroke को रोकने में सफल सिद्ध हुआ है।

*. हल्दी को करे अपने खाने में शामिल : दोस्तों हल्दी हम सभी भारतीयों के Kitchen की शान है जब तक हल्दी का स्वाद और रंग खाने में ना आये तो खाने का स्वाद ही अधूरा रहता है और इसी के साथ हल्दी में भरपूर मात्रा में औषधीय गुण पाए जाते है। ये हार्ट ब्लॉकेज की समस्या को ख़तम करने में बहुत अहम भूमिका निभाती है।

*. लाल मिर्च है आपके दिल का इलाज : लाल मिर्च में कैप्सेसिन (Capsaicin) नमक तत्व होता है जो बहुत ही गुनी माना गया है और भारतीयों व्यंजनों में बड़े शोक से मसालों के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। शोधकर्ताओं ने माना है की लाल मिर्च हार्ट अटैक को रोकने का बहुत ही अच्छा व कारगर इलाज है क्योकि इसमें Scoville Unit पाए जाते है जो की दिल के मरीजों के लिए बेहद ज़रूरी है।

Heart Attack आने पर मरीजों को एक गिलास पानी में एक चम्मच लाल मिर्च डालकर देनी चाहिए इससे हार्ट अटैक में तुरंत आराम मिलता है लेकिन ध्यान रहे ये घोल केवल तभी देना है जब मरीज होश में हो बेहोशी की हालत में ये घोल देना उचित नहीं है।

*. ब्रोकली का करे नियमित सेवन : Broccoli हमारे शरीर को प्रोटीन और विटामिन प्रदान करता है। ये Green Leafy Vegetable में पायी जाती है, इसके सेवन से दिल की बीमारी दूर होती है। ब्रोक्कोली में मौजूद पोटेशियम कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करता है और इसमें करेटेनॉएड्स ल्युटिन पाया जाता है जो की दिल की धमनियों को स्वस्थ रखने बहुत अहम भूमिका अदा करता है।

*. ड्राई फ्रूट्स रखे दिल को स्वस्थ : दोस्तों Dry Fruits बहुत ही फायदेमंद चीज़ है ये आपके दिल के साथ आपके शरीर के बाकि अंग को भी स्वस्थ रखने का काम करते है और Research के अनुसार ये Nuts आपको Heart Stroke को रोकने में भी कारगर सिद्ध हुए है। आप पाएंगे की नट्स में Fiber की मात्रा अधिक होती है जो ब्लड में कोलेस्टेरोल को कम करने में मदद करता है। इसी के साथ नट्स को प्रतिदिन अपने नाश्ते में शामिल करे ये आपके पोषक तत्वों की कमी को पूरा करते है।

हार्ट में ब्लॉकेज से बचने के लिए परहेज :

दोस्तों अब तक आप हार्ट ब्लॉकेज से जुड़े लक्षण, कारण और घरेलु इलाज जान चुके है अब हम आपको इससे बचने के लिए कुछ परहेज बताने जा रहे है जिन्हे पढ़कर हार्ट से सम्बंधित बीमारियों के बढ़ने के खतरे की रोकथाम कर सकते है। ये परहेज करने के लिए आपको अपनी जीवनशैली में ज़्यादा बदलाव करने की ज़रूरत नहीं है। बस आपको कुछ चीज़ो की मात्रा कम करनी है और बस आपके दिल से जुडी समस्या का समाधान हो जायेगा। जैसे :

*. अधिक नमक का सेवन ना करे : Heart Patient को हमेशा नमक से परहेज करना चाहिए , डॉक्टर्स भी यही परामर्श देते है की हार्ट ब्लॉकेज की समस्या हो तो अधिक नमक खाने से बचे इससे Hypertension पर कण्ट्रोल हो सकता है।

*. अधिक मीठा खाने से परहेज करे : अक्सर दिल के मरीजों को मीठा न खाने का परामर्श दिया जाता है क्योकि इससे Sugar Level और Cholesterol का स्तर बढ़ जाता है जिससे खून के थक्के बनने शुरू हो जाते है या सरल भाषा में कहे तो खून गाढ़ा हो जाता है जो हार्ट स्ट्रोक और हार्ट अटैक जैसी घातक बीमारी को बढ़ावा देते है। इसीलिए मीठा खाने से बचे और खुद को स्वस्थ रखे।

*. धूम्रपान न करे : धूम्रपान आपके स्वस्थ के लिए सबसे हानिकारक क्रिया है अधिक धूम्रपान करने से निकोटीन और अन्य जेहरीले रसायन दिल के रोगो को बढ़ाते है। यही नहीं धूम्रपान करने से फेफ़ड़े ख़राब हो जाते है जिसकी वजह से केरोडीन धमनी से मस्तिष्क तक Blood Circulation में रुकावट पैदा होती है और यही हार्ट स्ट्रोक का कारण बनता है।

इसीलिए अगर आप लम्बा और स्वस्थ जीवन चाहते है तो सबसे पहले Avoid Smoking क्योकि रिसर्च के मुताबिक़ धूम्रपान करने वाले लोग धूम्रपान न करने वाले की तुलना में तीन गुना अधिक हार्ट स्ट्रोक के मरीज पाए जाते है और उन्हें बहुत ही जल्दी अपनी जान से हाथ धोने पड़ जाते है।

*. अधिक चिकनाई युक्त भोजन का परहेज करे : हार्ट ब्लॉकेज की समस्या में आपको खान पान पर विशेष ध्यान देना होता है जैसे इस बीमारी में आपको अधिकतर सादे खाने का सेवन करना उचित माना जाता है अतः डॉक्टर्स के परामर्श के मुताबिक आपको अधिक चिकनाई के खाने से बचना चाहिए क्योकि चिकनाई का सेवन करने से धमनियों के ऊपर एक परत जम जाती है जो Blood Circulation को रोक देती है और आपको हृदय की समस्या शुरू हो जाती है। इसीलिये अधिक तेल, डालडा घी आदि खाने से बचे।

*. Alcohol से परहेज करे : दोस्तों जैसा की आप सब जानते है कि शराब पीना हम सभी की सेहत के लिए जानलेवा हो सकता है क्योकि ये हमारे शरीर के प्रत्येक हिस्से प्रभाव डालता है। डॉक्टर्स के अनुसार alcohol महिलाओ और पुरुषो के स्वास्थ्य पर अलग अलग तरीके से असर डालता है। इसी के साथ शराब पीना आपके दिल के लिए भी घातक साबित हो सकता है इससे आपको heart attack आने की संभावना ज़्यादा होती है और धीरे धीरे आपको साँस लेने में भी कठिनाई महसूस होने लगती है। इसीलिए शराब को कहे ना और अपने दिल को स्वस्थ रखे।

तो ये था हमारा आज का आर्टिकल हार्ट में ब्लॉकेज के लक्षण, कारण, घरेलू इलाज और परहेज, Heart blockage symptoms Home Remedies in Hindi जिसे पढ़ने के बाद आपको अपने दिल से जुडी समस्याओं का समाधान मिलेगा तो कैसा लगा आपको हमारा ये आर्टिकल Comment Box में ज़रूर बताये। हम आगे भी इसी तरह आपसे जुड़े रहेंगे और आपकी समस्याओं का समाधान आपको बताते रहेंगे। धन्यवाद।

इस पोस्ट (Heart blockage symptoms Home Remedies in Hindi) को Like और Share करना बिलकुल मत भूलिए, कुछ भी पूछना चाहते हैं तो नीचे Comment Box में जाकर Comment करें.

Follow Us On Facebook

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *